षटतिला एकादशी 23 को: इस दिन विधि विधान से पूजा कर पाएं हजारों यज्ञों का पुण्य

हिंदू धर्म में एकादशी का बहुत अधिक महत्व है। पद्म पुराण के अनुसार माघ माह की कृष्ण पक्ष की एकादशी को षटतिला नामक एकादशी कहा गया है। जो बहुत महत्वपूर्ण है। इस बार यह एकादशी 23 जनवरी, सोमवार को है। ये भी पढ़े- भूलकर भी इन चीजों के साथ न करें दवाओं का सेवन, होगा हानिकारक चाहते है सर्दियों में जल्दी उठना, तो अपनाएं ये आसान टिप्स सहजन की पत्तियों से बने बिस्कुट देंगे स्वाद और सेहत हिंदू धर्म के शास्त्रों के अनुसार जो इंसान विधि-विधान से एकादशी का व्रत और रात्रि जागरण करता है उसे वर्षों तक तपस्या करने का पुण्य प्राप्त होता है। इसलिए इस व्रत को जरुर करना चाहिए। इस व्रत से कई पीढियों द्वारा किए गए

मकर संक्रांति के बारें में आप नहीं जानते होगे ये दिलचस्प तथ्य

मकर

मकर संक्रांति एक ऐसा त्योहार है। जिसमें आकाश में सिर्फ पतंगे ही पतंगे दिखाई देती है। जिसमें लोग ग्रुप में होकर एक-दूसरे से पतंग का मांजा कटा रहे होते है।  यह पंतगबाजी कहीं कहीं पर ओलम्पिक स्तर पर भी होती है। इस दिन बच्चें ही नही बड़े-बुजुर्ग भी बढ़-चढ कर हिस्सा लेते है। ये भी पढ़े- हर काम में आ रही है अड़चन, तो मंगलावर को करें ये उपाय माघ मास प्रारम्भ: 10 फरवरी तक करें ये काम, मिलेगा अक्षय पुण्य मकर संक्रांति को इनमें से करें कोई 1 ये उपाय, भर जाएंगी आपकी तिजोरी मकर संक्रांति एक ऐसा त्योहार है जो पूर्णरुप से भगवान सूर्य को पूजा-अर्चना की जाती है। यह त्योहार इस बार 14 जनवरी को पड़ रहा हैं। ल

शुक्रवार: पुष्य नक्षत्र के साथ बन रहा है अशुभ योग, इस राशि के जातक संभलकर रहे

शुक्रवार: पुष्य नक्षत्र के साथ बन रहा है अशुभ योग, इस राशि के जातक संभलकर रहे

आज से माघ मास का कृष्ण पक्ष शुरु हो गया है। जिसके कारण सूर्योदय पुष्य नक्षत्र में होगा। जो कि रात को 1 बजकर 47 मिनट तक रहेगा। इसके साथ ही आज लोहड़ी का त्योहार है। जो कि सबसे ज्यादा पंजाब और जम्मू कश्मीर में मनाया जाता है। ये भी पढ़े- पाना है लाइफ में हमेशा सक्सेस, तो याद रखें गौतम बुद्ध की ये अनमोल बातें राशिफल 2017: एक क्लिक में जानिए कैसा रहेगा आपका नया साल कई साल बाद विशेष संयोग के साथ सर्वार्थ सिद्धि योग में मनेगी मकर संक्रांति आज पुष्य नक्षत्र होने के कारण उत्पाद योग बन रहा है। जिसके कारण कुछ राशियों के लिए अशुभ भी होगा। यह योग अपना प्रभाव हर राशि में अपनी तरीके से डालेगा। इसलिए आज थोड

गुरुवार: अशुभ योग होने के कारण इस राशि के जातक रहे सतर्क, हो सकता है भारी नुकसान

आज पौष पूर्णिमा है। आज का दिन स्नान, दान, व्रत के लिए शुभ माना जाता है। पूर्नावस नक्षत्र और वैघृति योग है। ये शुभ नहीं माना जाता है। आज के दिन गुरुवार से संबंधी कोई भी शुभ काम न करें। अगर बृहस्पति आपकी जन्म पत्रिका में तीसरे, छठे, ग्यारहवें घर का मालिक है, तो आप बृहस्पति संबंधी उपाय करना शुभ होगा।  बिजनेस और नौकरीपेशा लोगों के सोचे हुए काम हो जाएंगे। बहुत से मामलों में नुकसान से भी बच जाएंगे। ये भी पढ़े- इस साल का पहला पुष्य नक्षत्र मकर संक्रांति से पहले, खरीददारी के लिए शुभ दिन कई साल बाद विशेष संयोग के साथ सर्वार्थ सिद्धि योग में मनेगी मकर संक्रांति राशि के लोग विशेष काम कर सकते हैं, किसे

लोहड़ी कल: जानिए इस पर्व को मनाने के पीछे का कारण और कथा

लोहड़ी कल: जानिए इस पर्व को मनाने के पीछे का कारण और कथा

लोहड़ी उत्तर भारत का एक फेमस त्योहार है।  यह देश के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग तरीके, रीति-रिवाज से मनाया जाता है। यह मकर संक्रांति के एक दिन पहले मनाया जाता है। यह त्योहार पंजाब और जम्मू-कश्मीर में मनाया जाता है। ये भी पढ़े- इस साल का पहला पुष्य नक्षत्र मकर संक्रांति से पहले, खरीददारी के लिए शुभ दिन कई साल बाद विशेष संयोग के साथ सर्वार्थ सिद्धि योग में मनेगी मकर संक्रांति रामचरितमानस: कभी न करें ऐसे व्यक्तियों से इस तरह की बातें, होगा आपका ही नुकसान राशिफल 2017: एक क्लिक में जानिए कैसा रहेगा आपका नया साल मकर संक्रांति की पूर्व संध्या पर इस त्योहार का उल्लास रहता है। रात में खुले स्थान में

3 साल बाद मकर संक्रांति 14 को, एक दिन पहले करें ये उपाय तो हो जाएंगे करोड़पति

साल का पहला पुष्य नक्षत्र मकर संक्रांति के एक दिन पहले यानी की 13 जनवरी को पड़ रहा है। यह दिन बहुत ही शुभ माना जाता है। जो कि शुक्रवार के दिन पड़ रहा है। इस दिन मां लक्ष्मी का दिन माना जाता है। ये भी पढ़े- इस साल का पहला पुष्य नक्षत्र मकर संक्रांति से पहले, खरीददारी के लिए शुभ दिन रामचरितमानस: कभी न करें ऐसे व्यक्तियों से इस तरह की बातें, होगा आपका ही नुकसान पुष्य नक्षत्र और शुक्रवार एक दिन होने के कारण यह दिन बहुत ही शुभ है। इस दिन मां लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा करने पर वह आपके ऊपर अपनी कृपा जरुर करती है। 12 जनवरी की रात 2 बजकर 32 मिनट से यह शुभ योग प्रारम्भ होगा जो कि 13 जनवरी को रात 1

माघ मास प्रारम्भ: 10 फरवरी तक करें ये काम, मिलेगा अक्षय पुण्य

हिंदू धर्म में माघ मास का बहुत ही अधिक महत्व है। यह मास स्नान, व्रत, तप, कल्पवास के लिए सबसे अच्छा माना जाता है। इस पूरा मास श्री कृष्ण की पूजा की जाएं तो आपकी हर मनोतकामना पूर्ण होने के साथ-साथ आपको अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। ये भी पढ़े- इस साल का पहला पुष्य नक्षत्र मकर संक्रांति से पहले, खरीददारी के लिए शुभ दिन 3 साल बाद मकर संक्रांति 14 को, एक दिन पहले करें ये उपाय तो हो जाएंगे करोड़पति रामचरितमानस: कभी न करें ऐसे व्यक्तियों से इस तरह की बातें, होगा आपका ही नुकसान माघ मास में रोजाना सुबह तारों की छांव में नित्य कार्यों से निवृत होकर पूजन से पूर्व तिल, जल, फूल, कुश अंजली में भरकर सं

Pages